प्रदेश के वन मंत्री दिनेश अग्रवाल ने नववर्ष के उपलक्ष्य में विधानसभा स्थित कार्यालय कक्ष में प्रेसवार्ता की

0
118
Advertisment

प्रदेश के वन एवं वन्य जीव खेल विधि एवं न्याय विभाग मंत्री दिनेश अग्रवाल ने आज विधान सभा स्थित अपने कार्यालय कक्ष मंे पत्रकार वार्ता का आयोजन किया। पत्रकार वार्ता के माध्यम से उन्होंने नव वर्ष की शुभकामनायें देते हुए कहा कि प्राकृतिक सौंदर्य और संसाधनों से युक्त उत्तराखण्ड राज्य सरकार के प्रयासों से नयी ऊचाईयों को हासिल कर और आगे बढे़। वर्तमान सरकार भी राज्य के विकास के लिए दृढ़ सकंल्पित हैं। पत्रकारों के सवालों के जवाब में वन एवं खेल मंत्री ने कहा कि कांग्रेस सरकार का संकल्प है कि वह अपने दोनों विभागों खेल और वन को लेकर व बीते वर्ष से और अधिक प्रयास करेंगे। जितनी भी योजनायें और कार्य खेल और वन विभाग ने चलायी हैं। सभी को पूर्ण कर राज्य की जनता को सौंप दिया जाना इस वर्ष में उनका प्रमुख लक्ष्य है। अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए वह नई ऊर्जा के साथ फिर से जुट जायेंगेे। पत्रकारों के जवाब में श्री अग्रवाल ने कहा कि राज्य में खेल नीति पहले ही लागू की जा चुकि है इसके तहत अब वर्ष के शुरूआत के महिनों में ही प्रशिक्षकों के 129 पदों को भरा जायेगा। राज्य के युवाओं को खेलों से जोड़कर शारीरिक मानसिक विकास के साथसाथ खेल के क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध करायें जायेंगे। जिससे युवा सही दिशा में आगे बढे़ं। खिलाड़ियांे के लिए देहरादून में बहुउद्देशीय भवन बनाया जाना इसका सकंेत है। फाॅरेस्ट गार्डों की भर्ती में घपले पर मंत्री ने कहा कि मामले की गहन जांच के आदेश दे दिये गये हैं। सरकारी स्तर से मामले की पूरी जांच करायी जायेगी फिर भी यदि कोई अभ्यर्थी असंतुष्ट हो तो वह न्यायालय जाने के लिए स्वतंत्र है। वन विकास के सवाल पर श्री अग्रवाल ने कहा कि राज्य में वन्य पशुओं का घनत्व बढ़ा है राजाजी में हाथियों और कार्बेट में टाइगरों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। वन्य जीवों की बढ़ती संख्या को देखते हुए विभाग द्वारा कई छोटी छोटी सफारियों की स्थापना की जा रही है। वन मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री की विशेष इच्छा है कि राज्य में वन पंचायतो का गठन हो जिसके लिए वन विभाग राज्य की महिलाओं को अधिकार देकर सशक्त करने के लिए काम शुरू कर चुका है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY