खनन रिपोर्ट पर जिलाधिकारी ने दिए कड़े निर्देश

0
225
Smiley face

जिलाधिकारी हरबंस सिंह चुघ ने समस्त संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हुआ कहा है कि अवैध खनन रोकने के संबंध में की जाने वाली कार्यवाहियों में उप जिलाधिकारियों एवं उनके अधीनस्थों द्वारा वाहन सीज की रिपोर्ट दी जाती है परन्तु सीज होने के उपरांत उनका निस्तारण किस प्रकार से हुआ इस पर अंतिम सूचना नहीं दी जाती है। पोकलैण्ड तथा अन्य मशीनों के उपयोग के विषय मंे भी जांच आख्या अथवा निरीक्षण आख्या मौन होती है। स्टोन क्रेशर एवं भण्डारण के मामलों में सीज करने की सूचना बाह्य एजेंसियों को तो दी जाती है परन्तु उसकी रिपोर्ट नहीं भेजी जाती है। जबकि ऐसे प्रकरणों मंे नियमों एवं प्राविधानों के उल्लंघन का उल्लेख करते हुए ही सीज की कार्यवाही की जानी चाहिए। अपूर्ण कार्यवाही से न केवल न्यायालय के समक्ष असमंजस की स्थिति का सामना करना पड़ता है, अपितु अपूर्ण कार्यवाही से प्रशासनिक कार्यवाही का प्रभाव समाप्त होता है तथा गलत संदेश जाता है। इसको दृष्टिगत रखते हुए जिलाधिकारी ने निर्देश दिये हैं कि प्रत्येक कार्यवाही के अंतिम परिणाम तक संबंधित निरीक्षण अधिकारी का अनुश्रवण का दायित्व होगा। पुलिस अधिकारी अपने निरीक्षण की रिपोर्ट निरीक्षण समाप्ति के 03 घण्टे अंदर ही जिलाधिकारी को फैक्स/ईमेल के माध्यम से तदोपरांत मूलप्रति 24 घण्टे के अंदर भेजना सुनिश्चित करेंगे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY