पेयजल आपूर्ति किसी भी प्रकार से बाधित न होःः जिलाधिकारी

0
286
Smiley face

जनपद में पेयजल आपूर्ति किसी भी प्रकार से बाधित न हो, जिन हैण्डपम्मों में बोरिंग एवं रिपेयरिंग का कार्य चल रहा है उन्हें 15 मई तक इस कार्य में लगी टीमों के माध्यम से हर हाल में ठीक करवाया जाए यह निर्देश जिलाधिकारी हरबंस सिंह चुघ ने कलक्ट्रेट रोशनाबाद में ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में पेयजल की समस्या के समाधान के सम्बन्ध में बैठक लेते हुए दिये। उन्होंने अधिशासी अभियन्ता जल निगम को पेयजल की समस्याओं के त्वरित निस्तारण के लिए वट्स एप ग्रुप बनाने के निर्देश दिये, इस ग्रुप में जल निगम, जल संस्थान एवं सभी प्रशासनिक अधिकारी रहेंगे। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि लाइट जाने की स्थिति में पेयजल की पूर्ण उपलब्धता के लिए जनरेटर की व्यवस्था की जाए। जिन हैण्डपम्पों में रीबोरिंग एवं रिपेयरिंग का कार्य होना है उसके लिए जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता जल निगम को गठित टीमों का रोस्टर बनाने को कहा जिससे यह कार्य निर्धारित समय के अन्दर पूरा किया जा सके। उन्होंने इसकी सूची सी.डी.ओ. एवं सम्बन्धित तहसीलों के उप जिलाधिकारियों को भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता जलनिगम को निर्देश दिया कि ग्रामीण क्षेत्रों की पेयजल से सम्बन्धित जो योजनाएं बिजली का बिल न दिये जाने एवं एवं अन्य कारणों से बन्द पड़ी है, उन योजनाओं की पूरी सूची, योजना बन्द होने का कारण एवं किस विभाग से सम्बन्धित योजना है का पूरा विवरण प्रस्तुत करने को कहा। उन्होंने कहा कि जनपद के किसी भी क्षेत्र में पेयजल की समस्या होने पर किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जायेगी। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी सोनिका,अपर जिलाधिकारी वित्त अभिषेक त्रिपाठी, संयुक्त मजिस्ट्रेट रूड़की मंगेश घिल्डियाल, उपजिलाधिकारी हरिद्वार प्रत्यूष सिंह, उप जिलाधिकारी भगवानपुर मनीष कुमार,, ए.सी.एम.ओ. डाॅ एच.डी. शाक्य, आपदा प्रबन्धन अधिकारी मीरा कैन्तुरा, अधिशासी अभियन्ता जल निगम मोहम्मद मीसम, ई.ई. जल संस्थान मनीष सेमवाल, मुख्य कृषि अधिकारी जे.पी. तिवारी, पशु चिकित्साधिकारी डाॅ रमन चोपड़ा आदि उपस्थित थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY