स्वास्थ्य मंत्री सुरेन्द्र सिंह नेगी ने मेला नियंत्रण कक्ष में गंगा नदी के रायवाला से भोगपुर के क्षेत्रान्तर्गत खनन/ चुगान के सम्बन्ध में साधुसंतों/ अखाड़ा प्रमुखों के साथ बैठक करते हुए राय ली

0
281
Smiley face

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सुरेन्द्र सिंह नेगी ने मेला नियंत्रण कक्ष में गंगा नदी के रायवाला से भोगपुर के क्षेत्रान्तर्गत खनन/ चुगान के सम्बन्ध में साधुसंतों/ अखाड़ा प्रमुखों के साथ बैठक करते हुए राय ली । श्री नेगी ने कहा कि बरसात के समय नदियों में बाढ़/ पानी आने से नदी के सेन्टर में उठाव की स्थिति बन जाती है, जिसके कारण नदी अपने बहने वाले मूल बिन्दु से हटकर रास्ता बदल लेती है, जिससे इस क्षेत्र में काफी कृषि योग्य भूमि बह जाती है। उन्होंने कहा कि गंगा नदी की सफाई के दृष्टिगत एवं गंगा के सम्मान एवं स्वरूप को किसी प्रकार का नुकसान न हो। इस सम्बन्ध में उन्होंने सन्त समाज से चर्चा की। उन्होंने यह भी कहा कि उत्तराखण्ड में रोजगार के सीमित संसाधन है। इस क्षेत्र के लोगों का खनन एवं चुगान आजीविका का साधन है। उन्होंने सन्त समाज से निर्धारित मानकों के अनुसार वैज्ञानिक तरीके से गंगा की सफाई के सम्बन्ध में सुझाव मांगे। बैठक में उपस्थित साधुसंतों/ अखाड़ा प्रमुखों ने अपनी राय देते हुए कहा कि गंगा की सफाई होना जरूरी है, निर्धारित मानकों तथा वैज्ञानिक तरीके से चुगान का कार्य किया जाए जिससे गंगा की अविरल धारा बहती रहे। साधुसंतो ने यह भी सुझाव दिया कि खनन पर सरकार का पूर्ण नियंत्रण हो, हरकी पैड़ी की तरह अन्य घाटों पर भी सफाई की जाए, रायवाला से भोगपुर तक जहां टीलों की वजह से गंगा में अवरोध पैदा हो रहा है वहां पर खनन एवं चुगान की अनुमति प्रदान की जाए। साधुसंतों ने कहा कि निर्धारित मानकों के अनुसार खनन एवं चुकान होने से जहां गंगा का प्रवाह तंत्र भी सही रहेगा और सरकार को राजस्व आय की भी प्राप्ति होगी, इसलिए प्रत्येक वर्ष गंगा की सफाई होना अनिवार्य है। साधुसंतो/ अखाड़ा प्रमुखों के सुझाव लेने के पश्चात स्वास्थ्य मंत्री ने कहा उनका उद्देश्य खनन/ चुगान के सम्बन्ध में संतसमाज एवं जनमत संग्रह की बात सरकार तक पहुंचाना है। इस सम्बन्ध में कैबिनेट में जो भी निर्णय लिया जायेगा वह सर्वसम्मति से लिया जायेगा। लेकिन सरकार का मुख्य उद्देश्य गंगा की सुरक्षा, अविरलता एवं सफाई पर विशेष ध्यान देना है। इस अवसर पर महामण्डलेश्वर स्वामी प्रेमानन्द महाराज जी, महामण्डलेश्वर स्वामी सहज प्रकाशानन्द, जूना अखाड़ा के महन्त विनोद गिरी,आचार्य अनूप महाराज,स्वामी भरत मुनि,महन्त साधनानन्द, श्री हरेराम गिरी, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष सतपाल ब्रहम्चारी, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अंशुल श्रीकंुज, जिलाधिकारी हरबंस सिंह चुघ, अपर सचिव खनन विनय शंकर पाण्डे, एस.पी. सिटी नवनीत सिंह, सी.एम.ओ. डाॅ आरती ढ़ौढ़ियाल, उपजिलाधिकारी हरिद्वार प्रत्यूष सिंह एवं साधुसंत समाज के प्रमुख उपस्थित थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY