चतुर्थ राज्य वित्त आयोग की बैठक सम्पन्न

0
258
Smiley face

ल्मोड़ा 11 अपै्रल, 2016 (सू0वि0) नगर पंचायत, जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत व ग्राम पंचायतों को सशक्त बनाने के लिए हमे ठोस सुझावो को आमंत्रित कर कार्य योजना तैयार करनी होगी यह बात चतुर्थ राज्य वित्त आयोग के अध्यक्ष प्रो0 वी0के0 जोशी ने आज सर्किट हाउस में विभिन्न प्रतिनिधि मण्डलों के साथ हुई एक बैठक में कही। उन्होंने कहा कि वित्त आयोग सुझावो को प्राप्त कर नगर निकायो व पंचायतों को सक्षम करने का काम सहित उनकी समस्याओं को भी सुनता है। उन्होंने कहा कि जनपद अल्मोड़ा संस्कृति का केन्द्र बिन्दु रहा है आज जिस तरह शहर में अनियन्त्रित ढ़ग से निर्माण हो रहा है वह भी एक सोचनीय विषय है इस पर भी हमे ध्यान देना होगा ताकि शहर की खूबसूरती बनी रहे नगर निकायो के कर्मचारियों के वेतन, पेंशन आदि के भुगतान के लिए हमे अपने संशाधन भी बढ़ाने होंगे साथ ही इन क्षेत्रों का परिसीमन भी बढ़ाने पर आम सहमति तैयार करनी होगी तभी हम समस्याओं का निदान करने में सफल हो पायेंगे। उन्होंने नगरपलिका अध्यक्ष प्रकाश जोशी सहित सभी सदस्यों के सुझावो को सुना साथ ही नगरपालिका अध्यक्ष द्वारा नगर में मास्टर प्लान लागू करने व सालिड वेस्ट मैनेजमेंट (कूड़ा निस्तारण) की समस्या को दूर करने, सेवानिवृत्त एवं कार्यरत पेंशन, उपादान, ऐरियर का भुगतान, कर्मचारियों की समस्या, सीवरेेज की समस्या, नगर निकाय से लगी 05 किमी0 क्षेत्र की आबादी एवं क्षेत्रफल को नगपालिका जोड़ने, यूजर्स चार्ज लगाने, अतिक्रमण हटाने, स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत सार्वजनिक शौचालयों एवं मूत्रालयों में सफाई हेतु पानी के कनेक्शन व जलमूल्य निःशुल्क करने आदि को गम्भीरता से सुना और आश्वस्त किया कि इन समस्याओं को वे अपनी ओर से संस्तुति सहित आयोग में रखेंगे। इस अवसर पर उन्होंने नगर निकाय के कर्मचारियों के द्वारा वेतन, पेंशन के मामलो को गम्भीरता से सुना और आश्वस्त किया कि अपनी ओर से उनकी समस्या को गम्भीरता से प्रस्तुत करेंगे। मा0 अध्यक्ष ने जिला पंचायत अध्यक्ष सहित सदस्यों के सुझावो को भी सुना और कहा कि जिला पंचायत सदस्यों को अपने कार्यों के मूल्याकंन के लिए स्वंय सक्रिय भूमिका निभाकर शासन में अपना पक्ष मजबूती से रखना होगा ताकि उनके कार्यों का मूल्याकंन कर जिला पंचायत को मजबूती मिल सके इसके लिए उन्हें ठोस सुझाव रखने होंगे। उन्होंने जिला पंचायत सदस्यों के सुझावो को सुना अधिकतर सुझावो पर उन्होंने कहा कि इसके लिए उन्हें शासन के समक्ष अपनी समस्या को रखना होगा पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष मोहन सिंह मेहरा ने अनेक सुझावो पर प्रकाश डाला और जिला पंचायत की परिसम्पतियाॅ जो बजट के अभाव में रखरखाव से वंचित है उसके लिए बजट प्राविधान का सुझाव रखा। इसके अलावा सभी सदस्यों ने यह सुझाव रखा कि जिला पंचायत के सदस्यों को विकास कार्यों हेतु जो धनराशि दी जाती है उसमें वृद्वि की जाय। इसके पश्चात क्षेत्र पंचायत प्रमुखों, क्षेत्र पंचायत सदस्यों व खण्ड विकास अधिकारियों के सुझावों को भी उन्होंने सुना। क्षेत्र प्रमुख धौलादेवी पीताम्बर पाण्डे द्वारा अनेक महत्वपूर्ण सुझाव क्षेत्र पंचायत के सम्बन्ध में रखे गये। खण्ड विकास अधिकारियों ने सुझाव दिये कि ग्रामीण क्षेत्रों में अनेक स्थानो पर छोटीछोटी पुलिया बनाने हेतु विकास खण्ड कार्यालय को धनराशि उपलब्ध हो जाय तो उससे सुविधा मिलेगी साथ ही कार्यालय व्यय मद में भी धनराशि दिलाये जाने का सुझाव रखा। चतुर्थ राज्य वित्त आयोग द्वारा अन्य सामान्य नागरिको, संगठनों के भी सुझाव लिए जो जनपद के विकास हेतु अहम मायने रखते है इसके बाद जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्होंने अधिकारियों को भी अपनी ओर से सुझाव रखने और उसके क्रियान्वयन की बात कही। चतुर्थ वित्त आयोग के सदस्य सचिव एल0एम0 पंत ने वित्तीय प्रबन्धन सहित अनेक बातो पर प्रकाश डालते हुए कहा कि नगर निकायो, जिला पंचायतो व क्षेत्र पंचायतो को अपने संशाधन बढ़ाकर आय अर्जित करनी होगी ताकि वे मजबूत हो सके यह तभी सम्भव होगा जब सभी लोग पूर्ण निष्ठा के साथ कार्य करेंगे। इसके अलावा सदस्य अविकल थपलियाल ने भी कहा कि जो भी सुझाव रखे गये है उनको आयोग अपनी सबल संस्तुति सहित प्रस्तुत करेगा इसमें वही सुझाव आयोग आगे बढ़ायेगा जो निकायो, पंचायतों को सशक्त बनाने के लिए अहम है। बैठक में उपस्थित मुख्य विकास अधिकारी प्रकाश चन्द्र ने आयोग को आश्वस्त किया कि जो भी उनके द्वारा निर्देश दिये गये है उसका जिला प्रशासन पूर्ण तरीके सेे पालन करेगा। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती पार्वती मेहरा, ब्लाॅक प्रमुख ताकुला दीपक बोरा, ब्लाॅक प्रमुख चैखुटिया बिशन राम, परियोजना निदेशक ग्राम्य विकास डी0डी0 पंत, मुख्य कोषाधिकारी विक्रम सिंह जतंवाल, शोध अधिकारी वी0सी0 सनवाल, अधीशासी अधिकारी नगरपालिका ए0के0 वर्मा सहित विभिन्न क्षेत्रों से आये जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY