जिलाधिकारी दीपक रावत ने अधिकारियों के साथ किया निरीक्षण

0
75

नैनीताल रोड पर जल भराव की समस्या को लेकर जिलाधिकारी दीपक रावत ने अधिकारियों के साथ किया निरीक्षण

नैनीताल रोड पर बरसात के दौरान होने वाले पानी के ओवरफ्लो एवं जल भराव की समस्या के निदान के लिए जिलाधिकारी दीपक रावत के साथ अभियन्ताओं ने भी जल भराव एवं ओवरफ्लों की जगहों का मुआयना किया। तकरीबन दो घण्टे चले निरीक्षण में अधिकारियों द्वारा पानी की निकासी की सम्भावनाएं तलाश की गयी। जिलाधिकारी श्री रावत ने टेढी पुलिया वाकवे नाला, काॅलटैक्स, शीशमहल में सिंचाई विभाग की नहरों, गुलों तथा लोनिवि द्वारा सड़क चैडीकरण के बाद बनायी गयी नालियों को निरीक्षण किया गया। अधिकारियों द्वारा बारिकी से अध्ययन करने के बाद कुछ एक स्थानों पर जल भराव एवं ओवरफ्लो के तकनीकी कारणों को चिन्हित किया गया। जिलाधिकारी दीपक रावत ने बताया कि जल भराव एवं तेज रफ्तार से सडक पर पानी बहने का यह मामला इस बरसात में सामने आया है। इससे पहले ऐसा नहीं होता था। उन्होनें अधिकारियों से कहा कि जहाँ नालों के ऊपर अतिक्रमण कर उनकी चैडाई कम कर दी गयी है, ऐसे स्पोट चिन्हित कर उनके अतिक्रमण हटाये जायें, ताकि नालों की चैडाई बढे। इसके साथ ही उन्होनें नालों की तली झाड सफाई कराने के भी निर्देश अधिकारियों को भी दिये। उन्होनें कहा कि टेढी पुलिया की नहर में जो प्राइवेट पीलर बनाये गये हैं, उनको हटवाया जाना जरूरी है। इसके अलावा इस नहर में काफी मात्रा में सिल्ट होने के कारण नहर की गहराई कम हो गयी है, इससे पानी सड़कों पर आ रहा है। इसके अलावा काॅल टैक्स पर सिंचाई विभाग की नहर के ऊपर जो दीवार बनायी गयी है, वह भी इसका कारण है। उन्होनें अधिशासी अभियन्ता सिंचाई टीडी काण्डपाल को निर्देश दिये कि वह वांछित सड़क पर नहरों की तत्काल सफाई कराना सुनिश्चित करें इसके साथ ही जल संस्थान तथा बीएसएनएल की लाइनों को भी नहरों में से सिफ्ट किया जाये ताकि नहरों से पानी का बहाव बाधित न हो। जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता लोनिवि रणजीत रावत को निर्देश दिये कि नालियों के ऊपर उनके द्वारा जो फुटपाथ बनाये गये हैं, उसमें सफाई के लिए होल बनाये जाये, ताकि नालियों चोक न होने पाये। निरीक्षण के दौरान सिटी मजिस्ट्रेट हरबीर सिंह, अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान एसके उपाध्याय, विद्युत नवीनचन्द्र मिश्रा आदि मौजूद थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY