नर्वाचक नामावलियों का पुनरीक्षण कार्य नहीं किया जा रहा है

0
70

नर्वाचक नामावलियों का पुनरीक्षण कार्य नहीं किया जा रहा है:- रूद्रप्रयाग 06 अक्टूबर, 2016(सू0वि0 01 जनवरी,2017 की अर्हता तिथि के आधार पर विधान सभा का निर्वाचक नामावलियों का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण बूथ लेबिल आॅफिसरों (बीएलओ) द्वारा पुनरीक्षण का कार्य किया जाना है। पुनरीक्षण कार्य एक राष्ट्रीय महत्व का कार्य और लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम1950 के नियम13ग के तहत सभी निर्वाचनों के लिये, निर्वाचक नामावली की तैयारी और शुद्धिकरण करने और ऐसे निर्वाचनों का संचालन करने के संबंध में नियोजित कोई अन्य आॅफीसर और कर्मचारी, उस अवधि में जिसके दौरान उन्हें इस प्रकार नियोजित किया जाता है, निर्वाचन आयोग में प्रतिनियुक्ति पर समझे जायेंगे और ऐसे आॅफीसर और कर्मचारी उस अवधि के दौरान निर्वाचन आयोग के नियंत्रण, अधीक्षण और सुशासन के अध्यधीन होंगे। उप जिलाधिकारी/निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी सदर मुक्ता मिश्र ने रूद्रप्रयाग व केदारनाथ विधान सभा निर्वाचन क्षेत्रों के ऐसे बूथ लेबिल आॅफीसरों (बीएलओ) जिनके द्वारा अपने बूथ से संबंधित निर्वाचक नामावलियों पुनरीक्षण कार्य नहीं किया जा रहा है, उन्हें शीघ्र कार्य प्रारम्भ किये जाने बावत नोटिस जारी करते हुए सूचित किया है कि यदि शीघ्र बीएलओ से संबंधित अपना कार्य प्रारम्भ नहीं किया जाता है तो पुनरीक्षण कार्य के पदीय कर्तब्यों के प्रति किसी भी प्रकार की लापरवाही शिथिलता एवं उदासीनता का अत्यंत गंभीरता से लिया जायेगा एंव ऐसा करने पर उनके विरूद्ध लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम1950 की धारा32 के तहत नियमानुसार कठोर कार्यवाही की जा सकती है। साथ ही राजस्व उप निरीक्षकों, सुपरवाइजरों के द्वारा भी अवगत कराया गया है कि बूथ लेबिल आॅफिसरों द्वारा अपने से संबंधित बूथ पर निर्वाचक नामावलियों का पुनरीक्षण कार्य नहीं किया जा रहा है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY