कुमाऊं विश्वविद्यालय के त्रयोदश दीक्षांत समारोह

0
55
कुमाऊं विश्वविद्यालय के त्रयोदश दीक्षांत समारोह

कुमाऊं विश्वविद्यालय के त्रयोदश दीक्षांत समारोह : कुमाऊं विश्वविद्यालय के त्रयोदश दीक्षांत समारोह में राज्यपाल कुलाधिपति डा. कृष्णकान्त पाल के द्वारा 03 डीलिट् उपाधि धारकों, 132 पीएचडी धारकों व 92 टापर प्राप्त लोगों को डिग्री व मेडल प्रदान किये गये। कुमाऊ विश्वविद्यालय के 13 वें दीक्षांत समारोह के अवसर पर कुलाधिपति डा. पाल का कुलपति प्रो0 एचएस धामी ने पुष्प गुच्छ व स्कार्फ पहनाकर स्वागत किया। समारोह को सम्बोधित करते हुये कुलाधिपति डा0 पाल ने कहा कि यह समारोह कुविवि एवं उसके विद्यार्थियों, शिक्षकों व अभिभावको के लिये अत्यंत ही महत्वपूर्व है। उन्होने कहा विश्वविद्यालय अपने शैक्षणिक सत्र का समयानुसार पालन करने में सफल रहा जो कि एक उपलब्धि है। कुविवि को राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद् के द्वारा ए ग्रेड प्रमाण पत्र दिया गया है, जो कि बेहद गौरवपूर्ण है। विवि के नैनोसांइंस एवं नैनो टैक्नोलाजी सैंटर को अपनी अनुसंधान गतिविधियों में सक्रियता लानी होगी। उन्होने कहा कि विवि को न केवल युवाओं के वैश्विक समूहो का निर्माण करना हैे जो कि अनुसंधान और नेतृत्व की भूमिका का निर्वहन कर सकें अपितु कौशल से सपृक्त युवा शक्ति को प्रेरणा व विशिष्ट कोैशल का उत्तम ज्ञान भी प्रदान करना है। उन्होंने कहा कि वैश्वीकरण से प्रेरित शैक्षणिक संस्थानों का बदलता परिदृश्य राष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित संस्थानों के साथ सहयोग की स्थापना की मांग करता है। यह हर्ष का विषय है कि विश्वविद्यालय ने पहले से ही अन्तर्राष्ट्रीय संस्थानों के साथ संयुक्त अनुसंधान और तकनीकी विकास के कार्यक्रमों के माध्यमों से सहयोग और सहयोग की सम्भावना को बनाने की दिशा में काम शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि इससे सभी हित धारकों, शिक्षकों, शोधार्थियों एवं छात्रों के लिये लाभकारी शिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि शिक्षक शिक्षा प्रणाली का आधार है। शिक्षकों की गुणवत्ता शैक्षिक मानकों की एक छवि हैं। विभिन्न उपाय शिक्षकों के विकास के लिये आवश्यक हैं। रिक्त पदों को प्राथमिकता के आधार पर भरा जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि आज हमें यह प्रतिज्ञा लेनी होगी कि हम अपने जीवन के हरएक दिन बौद्धिक, नैतिक, आध्यात्मिक और संव्यवसायिक रूप से अग्रसर होंगे। दीक्षांत समारोह में कुलपति प्रो एचएस धामी ने कुलाधिपति का स्वागत करते हुए कहा कि कुलाधिपति के दिशानिर्देश में विवि ने अपार गतिविधियां की हैं। उन्होने कहा कि मै शोधार्थियों से कहना चाहुंगा कि विवि के ज्ञान की गंगा प्रमुख तीन शाखांओं प्राकृतिक विज्ञान, सामाजिक विज्ञान एवं मानविक पर समान रूप से शोध कार्यो की आवश्यकता है, क्योंकि मानवीय जीवन पर इसका अलगअलग महत्व है। उन्होंने कहा कि कुमाउ विश्वविद्यालय त्रयोदश दीक्षांत समारोह मना रहा है। डिजिटल इंडिया एवं उन्नत प्रोद्योगिकी के इस युग में हर क्षेत्र में हमारा भारत वर्ष उत्तरोत्तर हो रहा है और इसकी उन्नति हेतु अनन्त अवसर उपलब्ध हैं। ऐसे परिदृश्य में उच्चशिक्षा का मूलाधार विश्वविद्यालय का दायित्व उत्तरोत्तर बढ़जाता है। उन्होंने कहा कि राज्य व राष्ट्र की प्रगति में युवाओं की भूमिका महत्वपूर्ण होती है, उन्हें सही दिशानिर्देशन करना, आसन्न चुनौतियों का सामना करने के लिये तैयार करना व प्रगति के पथ पर अग्रसर करना विश्वविद्यालयों का परम कर्तव्य है। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गाॅधी, पूर्व राष्ट्रपति स्व0सर्वपल्ली राधाकृष्णन, डा0एपीजे अब्दुल कलाम, जैसे महान विद्वानों के सिद्धान्तों व आदर्शो का जाने और उनके बताये मार्ग पर चलें तभी जीवन सफल होगा। इस अवसर पर कुलपति ने पूर्व व वर्तमान में कुविवि के द्वारा किये जा रहे कार्यो, व्यवस्थाओं, उपलब्धियों व गतिविधियों पर प्रकाश डाला। कुलपति द्वारा बताया गया कि कुमाऊ विश्वविद्यालय ने पहली बार दो पेटेंट फाइल कर इतिहास रचा है। इस अवसर पर मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति नागेन्द्र राव, डीआईजी अजय रौतेला, परिसहाय डा0योगेन्द्र सिंह रावत, कुल सचिव डीसी पांडे, पूर्व सांसद डा. महेंद्र पाल, पूर्व विधायक नारायण सिंह जंतवाल, डा. गणेश उपाध्याय, के अलावा डीएसबी परिसर निदेशक प्रो एसपीएस मेहता, कलासंकायाध्यक्ष प्रो बीएस बिष्ट,प्रो डीएस बिष्ट, प्रो डीडी जोशी, प्रो मेलकानी, डा. रितेश साह, डा चंद्रकला रावत, प्रो नीरजा टंडन, प्रो गिरधर सिंह नेगी, डा0 पीएस अधिकारी, डा. ललित तिवारी, डा. गिरीश रंजन तिवारी, डा. अजय अरोरा, डा. अशोक कुमार, डा निर्मल बसेरा के अलावा छात्रसंघ अध्यक्ष दिग्विजय मेहरा, उपाध्यक्ष मदन मोहन अधिकारी, जितेंद्र बंगारी, मोहित रौतेला, नवीन भट्ट रूचिर साह, सचिन नेगी, सूरज पांडे समेत अन्य छात्र छात्राऐं व शिक्षकगण मौजूद थे। समारोह का संचालन प्रो. इंदू पाठक व प्रो दिव्या उपाध्याय ने किया।

कुमाऊं विश्वविद्यालय के त्रयोदश दीक्षांत समारोह
कुमाऊं विश्वविद्यालय के त्रयोदश दीक्षांत समारोह

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY