(क्रिटिकल) बूथों का गहन निरीक्षण करने के दिए निर्देश।

0
58
(क्रिटिकल) बूथों का गहन निरीक्षण करने के दिए निर्देश।

(क्रिटिकल) बूथों का गहन निरीक्षण करने के दिए निर्देश : चम्पावत 23 अक्टूबर 16 आगामी विधानसभा सामान्य निर्वाचन2017 की व्यवस्थाओं के मध्यनजर पूर्व निर्वाचनों में बनाये गये संवेदनशील व अतिसंवेदनशील (क्रिटिकल) बूथों का गहन निरीक्षण कर उसके पुराने इतिहास, मतदान केन्द्रों के आसपास के संवेदनशील गांवों, कस्बों तथा क्षेत्र के असामाजिक तत्वों, शराब तस्करों, अत्यधिक तनाव वाले क्षेत्रों, जाति व क्षेत्रगत प्रकरण, विशेषकर राजनैतिक प्रतिदंदिता वाले बूथों की गतिविधियों पर भी पैनी नजर रखें जिससे निर्वाचन के समय किसी अप्रिय गतिविधि से दोचार न होना पड़े। उक्त निर्देश कल देर सायं अपर जिलाधिकारी हेमन्त कुमार वर्मा ने जिला कार्यालय सभागार में निर्वाचन कार्यो की बैठक लेते हुए पुलिस क्षेत्राधिकारी के साथ सभी तहसीलदारों को दिये। उन्होंने कहा कि क्रिटिकल मतदान केन्द्रों के आसपास किसी भी प्रकार की अवांछनीय गतिविधियां न होने दें और सूचना मिलने पर निर्वाचन कन्ट्रोल रूम में दर्ज करायें जिससे समय रहने निर्वाचन कार्यो में आने वाली अड़चनों को दूर किया जा सके। उन्होंने क्षेत्र के असामाजिक तत्वों की सूची भी उपलब्ध कराने को कहा जिससे उन पर समय रहने कार्यवाही की जा सके। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में किसी भी प्रकार शांति भंग न होने दें और मतदान बहिष्कार वाले क्षेत्र के लोगों की समस्याओं को भी निर्वाचन कन्ट्रोल रूम में अंकित करायें जिससे संबंधित विभाग को समस्याओं के समाधान हेतु समय रहते सूचित किया जा सके। उन्होंने उप जिलाधिकारियों, पुलिस क्षेत्राधिकारी, तहसीलदारों को क्रिटिकल बूथों का नक्शा बनाने, आनेजाने वाले रास्तों की पड़ताल करने के साथ बूथों का नक्शा उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने कहा कि निर्वाचन एक राष्ट्रीय व महत्वपूर्ण कार्यक्रम है इसलिए इसमें किसी तरह की ढीलाई न बरतें। उन्होंने कहा कि अवांछनीय गतिविधियों में लिप्त लोगों की सूची भी निर्वाचन कार्यालय को उपलब्ध करायें। उन्होंने कहा कि स्वीप कार्यक्रम के अंतर्गत विद्यालयों, डिग्री कालेजों आदि स्थानों से प्राप्त पोस्टरों, पम्पलेटों, निर्वाचन सामग्री, बैनरों आदि पर किसी भी पार्टी का चुनाव चिन्ह न हो विशेष ध्यान रखा जाय। उन्होंने कहा कि पूर्व में संवेदनशील/अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्र जहां पर विगत कई निर्वाचनों से शांति व्यवस्था बनी हैं उन बूथों को क्रिटिकल बूथों की श्रेणी से बूथों के आसपास के क्षेत्र की स्थिति का निरीक्षण के बाद हटा दें। उन्होंने स्वीप कार्यक्रम के अन्तर्गत अब तक की गई गतिविधियों की प्रति निर्वाचन कार्यालय को उपलब्ध कराने के साथ किसी भी अर्ह मतदाता का नाम मतदाता सूची में दर्ज होने से न छूटे इसके लिए शतप्रतिशत प्रयास करने के निर्देश दिये। अपर जिलाधिकारी ने जिला समाज कल्याण अधिकारी को दिव्यांगों की सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिये जिससे उनके लिए बूथों में रैम्प की व्यवस्था की जा सके। उन्होंने जनपदों में सक्रिय स्वयं सेवी संगठनों को भी जागो मतदाता जागो अभियान से जोड़कर उन्हें फार्म6,7,8 व 8क उपलब्ध कराने के निर्देश स्वीप प्रभारी को दिये। बैठक में उप जिलाधिकारी टनकपुर अनिल कुमार चन्याल, उप जिलाधिकारी सीमा विश्वकर्मा, पुलिस क्षेत्राधिकारी विमल कुमार आचार्य, तहीलदार नीलू चावला, समाज कल्याण अधिकारी पीसी जोशी, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी एमसी जोशी, स्वीप के प्रभारी जीवन कलौनी सहित सभी तहसीलदार, कानूनगो आदि उपस्थित थे।

(क्रिटिकल) बूथों का गहन निरीक्षण करने के दिए निर्देश।
(क्रिटिकल) बूथों का गहन निरीक्षण करने के दिए निर्देश।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY