शिक्षा के उन्ययन के लिए हमें विशेष प्रयास करने होंगे साथ ही प्रदेश की तरक्की का मैप तैयार कर राजनीति से ऊपर उठकर सभी लोगो को आगे आना होगा यह बात प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री हरीश रावत ने द्वाराहाट विकासखण्ड के बग्वालीपोखर में आयोजित मेले के शुभारम्भ के अवसर पर कही

0
64
शिक्षा के उन्ययन के लिए हमें विशेष प्रयास

शिक्षा के उन्ययन के लिए हमें विशेष प्रयास करने होंगे साथ ही प्रदेश की तरक्की का मैप तैयार कर राजनीति से ऊपर उठकर सभी लोगो को आगे आना होगा यह बात प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री हरीश रावत ने द्वाराहाट विकासखण्ड के बग्वालीपोखर में आयोजित मेले के शुभारम्भ के अवसर पर कही :  शिक्षा के उन्ययन के लिए हमें विशेष प्रयास करने होंगे साथ ही प्रदेश की तरक्की का मैप तैयार कर राजनीति से ऊपर उठकर सभी लोगो को आगे आना होगा यह बात प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री हरीश रावत ने आज द्वाराहाट विकासखण्ड के बग्वालीपोखर में आयोजित मेले के शुभारम्भ के अवसर पर कही। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य अन्य राज्यों की अपेक्षा विकास के क्षेत्र में बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है यहाॅ पर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए जो चार धाम यात्रा आयोजित की गयी है उसके आशातीष परिणाम दृष्टिगोचर हो रहे है अभी तक राज्य में 15 लाख से भी अधिक पर्यटक आ चुके है हमारा लक्ष्य उसे 40 लाख तक पहुॅचाने का है। मा0 मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कलाकारों, शिल्पकारों सहित अनेक पेंशन योजनायें चालू की गयी है उसी कड़ी में आगामी एक महीने के अन्दर पुरोहितों व शकुन आखर गाने वाली महिलाओं को भी इस योजना से आच्छादित किया जायेगा इसके साथ ही 65 साल के बुजर्गो के लिए 500 रू0 पूर्व में स्वीकृत पेंशन के अतिरिक्त दी जायेगी। महिलाओं को सशक्तीकरण के क्षेत्र में उन्नति करने के लिए कदम उठाये जा रहे है जो महिलायें अपने खेत में सब्जी उत्पादन का कार्य करेंगी उन्हें मनरेगा कार्यकत्री के रूप में जिलाधिकारी पंजीकृत करायेंगे। प्रदेश में शीघ्र ही 90 प्रतिशत विद्यालयों में प्रधानाचार्यों की व शिक्षकों की नियुक्ति की जायेगी। सामूहिक खेती करने के लिए लोगो को प्रोत्साहित किया जायेगा जो चकबन्दी की परिकल्पना को साकार करेगा। इस अवसर पर उन्होंने बग्वाली मेले को राज्य स्तरीय मेले देने के लिए देहरादून में बनायी गयी कमेटी को प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिये और कहा कि इस तरह के मेले हमारी संस्कृति के अनुरूप होने चाहिए तभी वास्तव में इन मेलो का महत्व बढ़ेगा। उन्होंने बिन्ता में जलाशलय बनाने के लिए सैद्वान्तिक स्वीकृति देते हुए कहा कि जिला प्रशासन इसके लिए भूमि की व्यवस्था करे तो शीघ्र ही यहाॅ पर जलाशय का निर्माण करा दिया जायेगा। मेल परिसर को भव्य रूप देने के लिए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के साथ ही स्थानीय विधायक के माध्यम से यहाॅ पर एक भव्य मैदान का निर्माण कराया जायेगा। मा0 मुख्यमंत्री ने बिन्ता में नर्सिग कालेज/ए0एन0एम0 कालेज खोलने की प्रशासनिक स्वीकृति दी और कहा कि बग्वालीपोखर में विकासखण्ड खोलने की जनता की माॅग को आगे बढ़ाने का कार्य किया जायेगा। उन्होंने कहा कि भदौरा में जो आई0टी0आई0 संचालित हो रही है उसका नाम शेर सिंह गाॅधी के नाम से करने की भी घोषणा की। मा0 मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान में एक हजार सड़कों का काम गतिमान है साथ ही 30 हजार से अधिक लोगो को नौकरी देने का लक्ष्य है। उन्होंने शिक्षा, हस्तशिल्प व खेती को बढ़ावा देने की बात कही। पलायन को रोकने के लिए पुरानी शिल्पकला को हमे अंगीकृत करना होगा इसके साथ ही स्वयं सहायता समूह के माध्यम से हम आत्मनिर्भर बन सकते है। उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार ने कई ठोस निर्णय लिये वर्तमान में 100 से भी अधिक डिग्री कालेज संचालित किये जा रहे है। काश्तकारों को सूअरों व बन्दरों से निजात दिलाने के लिए बन्दरबाड़ा व सूअररोधी दिवारे लगायी जा रही है। उन्होंने कहा कि आॅगनबाड़ी व आशा कार्यकत्रियों के लिए अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये है इसी के साथ ही भोजन माताओं को भी मानदेय के रूप में एक हजार रू0 अतिरिक्त देने की बात कही गयी है। आॅगनबाड़ी कार्यकत्रियों के लिए 500 करोड़ के रिवालविंग फण्ड की भी योजना बनायी गयी है। मा0 मुख्यमंत्री ने शौर्य चक्र विजेता चन्द्र सिंह, कुन्दन सिंह और जगत बोरा के परिजनों को शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया जिनमें चन्द्र सिंह की माता शान्ती भण्डारी, कुन्दन सिंह की माता मोहनी देवी एवं जगत सिंह की धर्मपत्नी बीना बोरा सम्मलित थी। मा0 मुख्यमंत्री ने स्वामी अमरदास की मूर्ति पर पुष्प चढ़ाये उसके बाद मेले का विधिवत् उदघाटन किया। प्रताप ंिसह टाईगर द्वारा कुमाउनी कविता संग्रह कौतिक का अवलोकन करने के बाद उन्होंने कहा कि हमारी संस्कृति को आगे बढ़ाने के शाही का यह योगदान अनुकरणीय है। मा0 मुख्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा मेले हमारी संस्कृति के वाहक है हमें इन मेलों को और अधिक भव्यता दिलाने का प्रयास करना होगा साथ ही विलुप्त हो रही संस्कृति को अक्षुण बनाये रखने के लिए संकल्प लेना होगा। उन्होंने कहा कि बग्वालीपोखर की जनता ने हमेशा विकास को आगे बढ़ाने में साथ दिया है और एक नई विकास की सोच किसी क्षेत्र से आगे बड़ी है। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक/संसदीय सचिव मदन बिष्ट ने कहा कि प्रदेश मा0 मुख्यमंत्री के नेतृत्व में निरन्तर आगे बढ़ रहा है हम सभी को एकजुट होकर उनके हाथ मजबूत करने होंगे। राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा, पूर्व विधायक पुष्पेश त्रिपाठी ने भी क्षेत्र के विकास में आगे आने की बात कही और कहा कि उत्तराखण्ड में युवा पीढ़ी को हमें नई दिशा दिखानी होगी तभी प्रदेश उन्नति में आगे बढ़ेगा। इस अवसर पर मन्दिर समिति के अध्यक्ष हरीश भण्डारी ने मुख्य अतिथि का स्वागत करते हुए मेले के स्वरूप को भव्यवता प्रदान करने की अपील की। इस कार्यक्रम में अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष राजेन्द्र बाराकोटी, पूर्व प्रमुख मीना काण्डपाल, नन्दन सिंह संगेला, राजेन्द्र टंगड़िया, भानुप्रकाश जोशी, मोहन सिंह भण्डारी चन्द्र शेखर अधिकारी, शिव सिंह बिष्ट, अमर सिंह रावत, राजेन्द्र पाण्डे, शिवदत्त पाण्डे, मनोज पाण्डे, अर्जुन बिष्ट, बाला दत्त तिवारी, जिलाधिकारी सविन बंसल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुॅवर, मुख्य विकास अधिकारी जे0एस0 नगन्याल, उपजिलाधिकारी विवेक राय, रजा अब्बास, जिला विकास अधिकारी मोहम्मद असलम, उप पुलिस उपाधीक्षक रानीखेत कमल राम सहित अनेक अधिकारी व गणमान्य लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन डा0 संतोष बिष्ट, मोहन भण्डारी ने संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर जय श्री कालेज की छात्राओं ने अनेक भव्य कार्यक्रम प्रस्तुत किये और मुख्यमंत्री का स्वागत किया। पहलाद मेहरा एण्ड पार्टी ने रंगारंग कार्यक्रम किये l

 शिक्षा के उन्ययन के लिए हमें विशेष प्रयास
शिक्षा के उन्ययन के लिए हमें विशेष प्रयास

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY