जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने किया राजीव नवोदय विद्यालय बहुली का औचक निरीक्षण।

0
20
जिलाधिकारी मंगेष घिल्डियाल ने आज राजीव नवोदय विद्यालय बहुली का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने खानपान तथा रहने की व्यवस्थाओं में सुधार लाने के निर्देष प्रधानाचार्य को दिये। प्रधानाचार्य ने बताया कि विद्यालय मे 6वीं कक्षा से 12वीं कक्षा तक कुल 114 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं जिनमें से 12वंी कक्षा में 16 विद्यार्थी अध्ययनरत हंै। जिलाधिकारी ने बच्चों से व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में जानकारी लेते हुए बताया गया कि इण्टर कक्षा के विज्ञान वर्ग में प्रैक्टिकल के लिए लैब की व्यवस्था नहीं हैं। बरसात के मौसम में कक्षा कक्षों में पानी टपकता है इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने कमरों की मरम्मत का आष्वासन दिया। विद्यार्थियों ने विद्यालय में अध्यापकों तथा हास्टिल वार्डन की कमी बताई ,इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने वार्डन के लिए प्रधानाचार्य को उपनल से नियुक्ति के निर्देष दिये। बताय कि विद्यालय में पानी की पर्याप्त सप्लाई नहीं है तथा सर्दी के मौसम में गरम पानी के लिए गीजर की व्यवस्था नहीं हैं जो है भी वे चालू हालत में नहीं हैं तथा खेलकूद के लिए कोई व्यवस्था नहीं हैं। छात्राओं ने बाथरूम की समस्या बताई। जिलाधिकारी ने विद्यार्थियों की समस्याओं को गौर से सुनकर प्रधानाचार्य को समस्याओं को हल करने के निर्देष दिये। जिलाधिकारी ने विद्यालय की व्यवस्थाओं का जायजा लेने के उपरान्त कक्षा कक्ष में जाकर बच्चों को उनके उज्जवल भविश्य के लिए अनेक टिप्स देते हुए कहा कि हमारा उद्देष्य आपको गुणवत्ता परक षिक्षा देना है आप अपने भविश्य का निर्णय स्वंय करें। आप जिस क्षेत्र में जाना चाहते हैं अभी से प्रयास करें। कहा कि सपने वह होते हैं जो खुली आॅखों से दिखते हंै। उन्होंने कहा यदि आप इच्छुक हों तो विद्यालय मे स्मार्ट कक्षाऐं षुरू करने का प्रयास किया जायेगा। ताकि आप इस विद्यालय से उत्तीर्ण होकर एक अच्छे क्षेत्र में प्रवेष कर अपने भविश्य को उज्जवल बना सके। उन्होंने बच्चों को हमारे देष के अनेक वैज्ञानिकों तथा बुद्धिजीवियों का उदाहरण देकर उनका अनुकरण करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि अभिभावकों की भी आप पर उम्मीद होती है कि उनके पाल्य नवोदय विद्यालय से उत्तीर्ण होकर किसी अच्छे क्षेत्र में प्रवेष लेकर अपने भविश्य को उज्जवल बनाये तथा माता पिता का नाम भी रोषन करें। जिलाधिकारी ने प्रधानाचार्य को निर्देषित करते हुए कहा कि कौन बच्चा किस क्षेत्र में प्रवेष लेना चाहता है सर्वे कराकर अभी से निर्णय लेकर बच्चों को उस क्षेत्र के लिए तैयारी करायें। निरीक्षण के दौरान प्रधानाचार्य राधेष्याम सहित विद्यालय के अध्यापक तथा अन्य कर्मचारी मौजूद थे।
जिलाधिकारी मंगेष घिल्डियाल ने आज राजीव नवोदय विद्यालय बहुली का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने खानपान तथा रहने की व्यवस्थाओं में सुधार लाने के निर्देष प्रधानाचार्य को दिये। प्रधानाचार्य ने बताया कि विद्यालय मे 6वीं कक्षा से 12वीं कक्षा तक कुल 114 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं जिनमें से 12वंी कक्षा में 16 विद्यार्थी अध्ययनरत हंै। जिलाधिकारी ने बच्चों से व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में जानकारी लेते हुए बताया गया कि इण्टर कक्षा के विज्ञान वर्ग में प्रैक्टिकल के लिए लैब की व्यवस्था नहीं हैं। बरसात के मौसम में कक्षा कक्षों में पानी टपकता है इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने कमरों की मरम्मत का आष्वासन दिया। विद्यार्थियों ने विद्यालय में अध्यापकों तथा हास्टिल वार्डन की कमी बताई ,इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने वार्डन के लिए प्रधानाचार्य को उपनल से नियुक्ति के निर्देष दिये। बताय कि विद्यालय में पानी की पर्याप्त सप्लाई नहीं है तथा सर्दी के मौसम में गरम पानी के लिए गीजर की व्यवस्था नहीं हैं जो है भी वे चालू हालत में नहीं हैं तथा खेलकूद के लिए कोई व्यवस्था नहीं हैं। छात्राओं ने बाथरूम की समस्या बताई। जिलाधिकारी ने विद्यार्थियों की समस्याओं को गौर से सुनकर प्रधानाचार्य को समस्याओं को हल करने के निर्देष दिये। जिलाधिकारी ने विद्यालय की व्यवस्थाओं का जायजा लेने के उपरान्त कक्षा कक्ष में जाकर बच्चों को उनके उज्जवल भविश्य के लिए अनेक टिप्स देते हुए कहा कि हमारा उद्देष्य आपको गुणवत्ता परक षिक्षा देना है आप अपने भविश्य का निर्णय स्वंय करें। आप जिस क्षेत्र में जाना चाहते हैं अभी से प्रयास करें। कहा कि सपने वह होते हैं जो खुली आॅखों से दिखते हंै। उन्होंने कहा यदि आप इच्छुक हों तो विद्यालय मे स्मार्ट कक्षाऐं षुरू करने का प्रयास किया जायेगा। ताकि आप इस विद्यालय से उत्तीर्ण होकर एक अच्छे क्षेत्र में प्रवेष कर अपने भविश्य को उज्जवल बना सके। उन्होंने बच्चों को हमारे देष के अनेक वैज्ञानिकों तथा बुद्धिजीवियों का उदाहरण देकर उनका अनुकरण करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि अभिभावकों की भी आप पर उम्मीद होती है कि उनके पाल्य नवोदय विद्यालय से उत्तीर्ण होकर किसी अच्छे क्षेत्र में प्रवेष लेकर अपने भविश्य को उज्जवल बनाये तथा माता पिता का नाम भी रोषन करें। जिलाधिकारी ने प्रधानाचार्य को निर्देषित करते हुए कहा कि कौन बच्चा किस क्षेत्र में प्रवेष लेना चाहता है सर्वे कराकर अभी से निर्णय लेकर बच्चों को उस क्षेत्र के लिए तैयारी करायें। निरीक्षण के दौरान प्रधानाचार्य राधेष्याम सहित विद्यालय के अध्यापक तथा अन्य कर्मचारी मौजूद थे।

Magistrate Rajiv Navodaya by Mangesh Gildiyal Bhuli surprise inspection :  जिलाधिकारी मंगेष घिल्डियाल ने आज राजीव नवोदय विद्यालय बहुली का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने खानपान तथा रहने की व्यवस्थाओं में सुधार लाने के निर्देष प्रधानाचार्य को दिये। प्रधानाचार्य ने बताया कि विद्यालय मे 6वीं कक्षा से 12वीं कक्षा तक कुल 114 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं जिनमें से 12वंी कक्षा में 16 विद्यार्थी अध्ययनरत हंै। जिलाधिकारी ने बच्चों से व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में जानकारी लेते हुए बताया गया कि इण्टर कक्षा के विज्ञान वर्ग में प्रैक्टिकल के लिए लैब की व्यवस्था नहीं हैं। बरसात के मौसम में कक्षा कक्षों में पानी टपकता है इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने कमरों की मरम्मत का आष्वासन दिया। विद्यार्थियों ने विद्यालय में अध्यापकों तथा हास्टिल वार्डन की कमी बताई ,इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने वार्डन के लिए प्रधानाचार्य को उपनल से नियुक्ति के निर्देष दिये। बताय कि विद्यालय में पानी की पर्याप्त सप्लाई नहीं है तथा सर्दी के मौसम में गरम पानी के लिए गीजर की व्यवस्था नहीं हैं जो है भी वे चालू हालत में नहीं हैं तथा खेलकूद के लिए कोई व्यवस्था नहीं हैं। छात्राओं ने बाथरूम की समस्या बताई। जिलाधिकारी ने विद्यार्थियों की समस्याओं को गौर से सुनकर प्रधानाचार्य को समस्याओं को हल करने के निर्देष दिये। जिलाधिकारी ने विद्यालय की व्यवस्थाओं का जायजा लेने के उपरान्त कक्षा कक्ष में जाकर बच्चों को उनके उज्जवल भविश्य के लिए अनेक टिप्स देते हुए कहा कि हमारा उद्देष्य आपको गुणवत्ता परक षिक्षा देना है आप अपने भविश्य का निर्णय स्वंय करें। आप जिस क्षेत्र में जाना चाहते हैं अभी से प्रयास करें। कहा कि सपने वह होते हैं जो खुली आॅखों से दिखते हंै। उन्होंने कहा यदि आप इच्छुक हों तो विद्यालय मे स्मार्ट कक्षाऐं षुरू करने का प्रयास किया जायेगा। ताकि आप इस विद्यालय से उत्तीर्ण होकर एक अच्छे क्षेत्र में प्रवेष कर अपने भविश्य को उज्जवल बना सके। उन्होंने बच्चों को हमारे देष के अनेक वैज्ञानिकों तथा बुद्धिजीवियों का उदाहरण देकर उनका अनुकरण करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि अभिभावकों की भी आप पर उम्मीद होती है कि उनके पाल्य नवोदय विद्यालय से उत्तीर्ण होकर किसी अच्छे क्षेत्र में प्रवेष लेकर अपने भविश्य को उज्जवल बनाये तथा माता पिता का नाम भी रोषन करें। जिलाधिकारी ने प्रधानाचार्य को निर्देषित करते हुए कहा कि कौन बच्चा किस क्षेत्र में प्रवेष लेना चाहता है सर्वे कराकर अभी से निर्णय लेकर बच्चों को उस क्षेत्र के लिए तैयारी करायें। निरीक्षण के दौरान प्रधानाचार्य राधेष्याम सहित विद्यालय के अध्यापक तथा अन्य कर्मचारी मौजूद थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY