रामजस तथा गुरमेहर मूद्दे पर सियासत तेज

0
106
gurmehar kaur images photos
gurmehar kaur images photos

रामजस तथा गुरमेहर मूद्दे पर सियासत तेज ,गुरमेहर मामले में पुलिस ने दर्ज की रपट ,जांच साइबर सैल को सौंपी गयी गुरमेहर ने खुद को कैंपेन से किया अलग ,ऐबीवीपी २ मार्च को फिर निकालेगी रैली।

दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज में बुधवार को हुई हिंसा को लेकर बवाल जारी है और विवाद बढता ही चला जा रहा है। एबीवीपी के खिलाफ कैंपेन में गुरमेहर कौर के कूदने से यह नेशनल डिबेट का विषय बन गया है.हालांकि, एबीवीपी के खिलाफ कैंपेन शुरू करने वाली लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा गुरमेहर कौर ने दुष्कर्म की धमकियां मिलने और पूरे मामले में विवाद बढ़ने के बाद अपने कैंपेन से खुद को अलग कर लिया है।

कौन है गुरमेहर कौर | विकिपीडिया जानकारी

गुरमेहर कारगित शहीद कैप्टन मनदीप सिंह की बेटी है। जो की लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा है.

क्या है पूरा मामला

ये पूरा मामला दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज से शुरू हुआ। बुधवार को रामजस कॉलेज में एक सेमिनार आयोजित किया गया था जहां राष्ट्रद्रोह का सामना कर रहे जेएनयू के छात्र उमर खालिद को वक्ता के तौर पर बुलाए जाने का एबीवीपी ने विरोध किया जिसको लेकर गत बुधवार को रामजस कॉलेज में दोनों छात्र संगठनों के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक संघर्ष हो गया था। विरोध प्रदर्शन हिंसक हो जाने से कई छात्र घायल हो गए।तभी से यह मामला गरमाया हुआ है।

इस बवाल के बाद डीयू की छात्रा गुरमेहर ने 140 शब्दों के फेसबुक पोस्ट में पूरा हंगामे को लिखा। गुरमेहर ने एबीवीपी के खिलाफ एक टायरनी ऑफ फियर नाम से एक कैंपेन भी चलाया।कैंपेन वायरल होने के बाद गुरमेहर ने अपनी फोटो भी बदल दी। उन्होंने नई तस्वीर में लिखा था कि “मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा हूँ। मैं एबीवीपी से डरी नहीं हूँ। मैं अकेली नहीं हूँ। देश का हर छात्र मेरे साथ ही है” .

दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज में एबीवीपी से जुड़े विवाद में रविवार को कारगिल शहीद की बेटी के आने से असली बहस तब शुरू हुई जब इस कैंपेन में अप्रत्यक्ष रूप से वीरेंद्र सहवाग भी कूद पड़े। इस विवाद को लेके सहवाग का ट्वीट देखेने को मिला । उनके साथ रणदीप हुडा और किरेन रिजिजू की टिप्पणियां भी देखने को मिली जिसने सोशल मीडिया पर एक नई डिबेट शुरू कर दी।
राहुल गांधी ने भी इस मामले में ट्वीट करते हुए कहा “डर की तानाशाही के खिलाफ हम अपने छात्रों के साथ हैं। गुस्‍से, असहिष्‍णुता और ज़हालत में उठी हर आवाज के लिए एक गुरमेहर कौर होगी”।

हालांकि गुरमेहर कौर को रेप की धमकियां मिलने और पूरे मामले में विवाद बढ़ने के बाद गुरमेहर ने इस कैंपेन से खुद को अलग कर लिया है। मंगलवार सुबह एक ट्वीट कर गुरमेहर ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि “मैं खुद को इस कैंपेन से अलग कर रही हूं मैं अपील करती हूं की मुझे अकेला छोड़ दिया जाए”।
उन्होंने इस कैंपेन में शामिल लोगों को आगे की लड़ाई के लिए शुभकामनाएं भी दीं साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में वहां जमा हों। गुरमेहर ने सुबह-सुबह कई ट्वीट किए जिसमें उसने खुद को कैंपेन से अलग करने की बात लिखते हुए कहा कि उन्हें जो कहना था कह चुकी हैं।”गुरमेहर ने यह भी कहा कि” सहवाग के ट्वीट ने उनका दिल तोड़ दिया ” वह अपने परिवार के पास जलंधर चली गयी…
अपने अगले ट्वीट में गुरमेहर ने कहा की “मैंने काफी कुछ झेला है और 20 साल की उम्र में मैं इतना ही बर्दाश्त कर सकती हूँ”।
इससे पहले गुरमेहर ने अनुरोध किया था की “अगर शहीद की बेटी के रूप में उसकी पहचान से लोगों को परेशानी है तो वे उसे इस रूप में न पहचाने”..

गुरमेहर कौर ने आरोप लगाया था कि उसे इस छात्र संगठन के सदस्यों से दुष्कर्म की धमकी मिली है। उसने इसकी शिकायत दिल्ली महिला आयोग से भी की थी। इसके बाद गुरमेहर को सुरक्षा मुहैया कराई गई।

गुरमेहर कौर मामले में ट्वीटर ट्वीट

मामले के राजनैतिक रूप ले लेने के बाद कई सारे नेताओं के बयान आने सुरू हो गये जिसमे मैसूर (कर्नाटक) से भाजपा सांसद प्रताप सिम्हा ने तो गुरमेहर की तुलना अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम से कर डाली।
साथ ही कांग्रेस और अरविंद केजरीवाल गुरमेहर के समर्थन में उतर आए। कांग्रेस ने कहा कि जब एक महिला स्वतंत्र होकर सोचती है, पितृसत्तात्मक भाजपा मानती है कि उसका दिमाग प्रदूषित है। जब कोई व्यक्ति शांति की वकालत करता है तो भाजपा घृणा से जवाब देती।
अरविंद केजरीवाल ने भी गुरमेहर का समर्थन किया और कहा कि “हमारी बेटियों और बहनों को दुष्कर्म की धमकी दी जा रही है, क्या यही भाजपा का राष्ट्रवाद है? ऐसे लोगों को धिक्कार”।.

लेखक-गीतकार जावेद अख्तर ने गुरमेहर की आलोचना को लेकर हरियाणा के खिलाड़ियों को निशाने पर लिया है। उन्होंने इनके लिए कम पढ़े लिखे शब्दोंं का भी इस्तेमाल किया है।वे बुद्धिमता का मुकाबला नहीं कर सकते इसलिए इसका जवाब हिंसा से दे रहे हैं।जावेद अख्तर ने मोदी सरकार के मंत्री को भी निशाने पर लिया।।।

अगर आपको हमारी पोस्ट पसन्द आती ह तो फेसबुक  व्हाट्सऍप  ट्वीटर  गूगल+ पर शेयर जरूर करें।।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY